उड़ता पंजाब: गालियां ही नहीं एमपी, एमएलए, पार्टी शब्द भी हटाएं जाएं

पहलाज निहलानी की अध्यक्षता वाले सेंसर बोर्ड ने फ़िल्म को इन कट्स के बिना सर्टिफिकेट देने से मना कर दिया है।

मुंबई: उड़ता पंजाब को लेकर सेंसर बोर्ड के साथ चल रही तनातनी में फ़िल्म इंडस्ट्री के लोग अनुराग कश्यप के समर्थन में उतर आए हैं। अनुराग फ़िल्म के को-प्रोड्यूसर हैं। 8 जून को मुंबई में फ़िल्ममेकर्स ने एक प्रेस कांफ्रेंस करके सीबीएफसी के मुखिया पहलाज निहलानी पर सीधे हमला बोला। फ़िल्ममेकर्स ने उड़ता पंजाब को दिए गए 89 कट्स को लेकर निहलानी को कठघरे में खड़ा किया।

इस लिस्ट मे कुछ कट्स ठीक लगते हैं, लेकिन कुछ को देखकर लगता है कि निहलानी सियासी दबाव में काम कर रहे हैं। लिस्ट में दिए गए कट्स निम्न प्रकार हैं-

  1.  शुरूआत में पंजाब का साइनबोर्ड हटाना।
  2. पंजाब समेत जालंधर, अमृतसर, लुधियाना, तरन-तारन आदि शहरों के नाम हटाना।(संवाद व गीतों समेत सभी जगह से पंजाब व इसके शहरों के नाम हटाना)
  3. गीत 1 से: ड्रग का नाम (ड्रग का नाम कहीं नहीं आना चाहिए)
  4. गीत 3 में से शब्द (‘चिट्टा’ को गाने में से हटाना)
  5. अपशब्द हटाना
  6. इलेक्शन, एमसी, पार्टी, पार्टी वर्कर, एमएलए, पंजाब पार्लियामेंट शब्दों को हटाना

बाक़ी के कट्स नीचे दी गई लिस्ट में देखे जा सकते हैं। उड़ता पंजाब 17 जून को रिलीज़ के लिए स्लेटिड है। फ़िल्म पंजाब राज्य में ड्रग्स की समस्या पर केंद्रित है, जिसमें शाहिद कपूर को पंजाबी रॉक सिंगर और ड्रग एडिक्ट दिखाया गया है।

पहलाज निहलानी की अध्यक्षता वाले सेंसर बोर्ड ने फ़िल्म को इन कट्स के बिना सर्टिफिकेट देने से मना कर दिया है।

cut words list udta punjab

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *