पिता और बेटियों के जज़्बाती रिश्ते की कहानी है ‘दंगल’

मुंबई: आमिर ख़ान की फ़िल्म ‘दंगल’ का टाइटल भले ही एक्शन का अहसास देता हो, लेकिन फ़िल्म की कहानी जज़्बात और ह्यूमर से भरी हुई है। ये दावा ‘दंगल’ के मुख्य अभिनेता आमिर ख़ान कर रहे हैं।

सोमवार को मुंबई मेंं फ़िल्म के दूसरे पोस्टर लांच के मौक़े पर आमिर ने एक सवाल के जवाब देते हुए कहा- “हम यही उम्मीद कर रहे हैं, कि फ़िल्म से लोगों में जागरूकता आए। जज़्बाती तौर पर ये अहसास हो, कि बेटी बेटे से अलग नहीं है। फ़िल्म इस अहम मुद्दे पर बात करती है। ये बाप और बेटियों के रिश्ते की कहानी है। ये प्रतिकूल परिस्थियों से जूझने की कहानी है।”

मुंबई में आयोजित प्रेस वार्ता में आमिर ख़ान और फ़िल्म के निर्देशक नितेश तिवारी व प्रोड्यूसर सिद्धार्थ रॉय कपूर।
मुंबई में आयोजित प्रेस वार्ता में आमिर ख़ान और फ़िल्म के निर्देशक नितेश तिवारी व प्रोड्यूसर सिद्धार्थ रॉय कपूर।

‘दंगल’ हरियाणा के कुश्ती कोच महावीर फोगट के जीवन पर बनी कहानी है, जिनकी चार बेटियां हैं। इनमें से दो को ख़ुद प्रशिक्षण देकर चैंपियन रेस्लर बनाते हैं। शायद इसीलिए जब फ़िल्म आमिर को ऑफ़र की गई, तो उन्हें लगा ये गंभीर फ़िल्म होगी, लेकिन बाद में आमिर की धारणा बदल गई।

dangal poster

आमिर ने कहा- “सबसे खास बात ये है कि भारी-भरकम कहानी की उम्मीद कर रहा था। फ़िल्म जज्बाती है, लेकिन नितेश (निर्देशक) ने इसके नरेशन में ह्यूमर डाला है। ये आपको एक जर्नी पर ले जाती है। इसमें आपको मज़ा आता है, आंखें भी नम होती हैं।”

‘दंगल’ इसी साल दिसम्बर में रिलीज़ हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.